June 15, 2024

पंजाब पुलिस मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के निर्देशों अनुसार राज्य में मज़बूत कानून व्यवस्था बरकरार रखने के लिए वचनबद्ध

1 min read

चंडीगढ़, मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की सोच अनुसार राज्य में जन हितैषी पुलिसिंग को यकीनी बनाने के लिए, डायरैक्टर जनरल ऑफ पुलिस ( डीजीपी) पंजाब गौरव यादव ने एडीशनल डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस ( एडीजीएसपी) के रैंक से ले कर स्टेशन हाउस अधिकारियों ( एस. एच. ओज) तक के सभी सीनियर पुलिस अधिकारियों को सार्वजनिक  शिकायतों का निपटारा करने के लिए सभी कामकाजी दिनों में सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक अपने दफ़्तरों में मौजूद रहने के निर्देश दिए हैं।
डीजीपी ने अपने अधिकारित एक्स हैंडल (जिसका नाम पहले टविट्टर था) पर जानकारी दी कि सभी रेंजों के एडीजीपीज़/ आईजीपीज़/ डीआईजीज़, पुलिस कमिशनरों, जिलों के एसएसपीज़, सब डिविजऩल डीएसपीज़ और एसएचओज़ को लोक शिकायतों के निपटारे के लिए सभी कामकाजी दिनों में सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक अपने दफ़्तरों में मौजूद रहने के निर्देश जारी किये गए हैं। उन्होंने कहा कि नागरिकों की सेवा के लिए उपलब्ध होना पुलिस का सब से बड़ा फर्ज है।
उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ स्थित पंजाब पुलिस हैडक्वाटर ( पीपीएचक्यू) में, स्पैशल डीजीपी/एडीशनल डीजीपी रैंक के सीनियर अधिकारियों को नागरिकों को मिलने और उनकी शिकायतों का निपटारा करने के लिए उपलब्ध रहने के दिन निर्धारित किये गए हैं।
जानकारी मुताबिक स्पैशल डीजीपी कल्याण  ईश्वर सिंह सोमवार को लोगों की शिकायतें सुनेंगे। इसी तरह, एडीजीपी सुरक्षा एस. एस. श्रीवासतव मंगलवार को, एडीजीपी ट्रैफिक़ ए. एस. राय बुधवार को, एडीजीपी प्रोवीज़निंग जी नागेश्वर राव गुरूवार को और स्पैशल डीजीपी कानून और व्यवस्था अर्पित शुक्ला शुक्रवार को लोगों की शिकायतें सुनेंगे।
‘नागरिकों तक पहुँच ‘को लोक केंद्रित पुलिसिंग का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बताते हुए डीजीपी गौरव यादव ने अधिकारियों को फ़ोन पर उपलब्ध रहने और आम लोगों की समस्याओं  को शांतिपूर्वक सुनने के लिए उनके साथ फ़ोन पर बात करने और उनकी शिकायतों का हल करने के लिए भी कहा।
उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस राज्य में अमन-कानून को बरकरार रखने के लिए लगातार प्रयत्नशील रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *