July 14, 2024

डिपुओं में दिया जा रहा है फोर्टिफाइड चावल

1 min read

डीएफएससी ने कहा, सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है यह चावल

शिवालिक पत्रिका,हमीरपुर 27 अप्रैल। कुपोषण की समस्या को दूर करने के लिए जिला हमीरपुर के सरकारी राशन डिपुओं में भी अब उपभोक्ताओं को फोर्टिफाइड चावल की आपूर्ति की जा रही है। जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रण अरविंद कुमार शर्मा ने बताया कि यह चावल बहुत ही पौष्टिक और सेहत के फायदेमंद है। डीएफएससी ने बताया कि इस चावल में आयरन, फोलिक एसिड और विटामिन बी-12 जैसे पोषक तत्वों को 1:100 के अनुपात में मिलाया जा रहा है। यानि 100 किलोग्राम चावल में एक किलोग्राम पोषक तत्व मिलाकर इसे फोर्टिफाइड किया जा रहा है और सरकार एक किलोग्राम चावल को फोर्टिफाइड करने पर 73 पैसे खर्च कर रही है।

अरविंद कुमार शर्मा ने बताया कि जिला के ग्रामीण क्षेत्रों के कुछ उपभोक्ताओं में फोर्टिफाइड चावल को लेकर कुछ भ्रांतियों की सूचना मिली है। उपभोक्ताओं को ऐसी भ्रामक सूचनाओं पर ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं के बेहतर स्वास्थ्य और पौष्टिक आहार के मद्देनजर ही सरकार ने फोर्टिफाइड चावल के वितरण का निर्णय लिया है। गुणवत्ता और पौष्टिकता की दृष्टि से आम चावल के मुकाबले फोर्टिफाइड चावल ज्यादा बेहतर है।

डीएफएससी ने बताया कि जिला में उचित मूल्य की सभी 302 दुकानों के माध्यम से साढे पांच लाख से अधिक उपभोक्ताओं को हर माह लगभग 12,600 क्विंटल फोर्टिफाइड चावल वितरित किया जा रहा है। चावल की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए गोदामों से नियमित रूप से सैंपल भी लिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि बुधवार को भी कुठेड़ा स्थित भारतीय खाद्य निगम के गोदाम से फोर्टिफाइड चावल के रूटीन सैंपल लिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *