April 21, 2024

डी.ए.वी रिकांग पिओ में ‘वो-दिन’ योजना के तहत छात्रों को किया जागरूक

1 min read

चित्रकला प्रतियोगिता में आंचल ने प्राप्त किया प्रथम स्थान

शिवालिक पत्रिका, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा जिला कार्यक्रम विभाग किन्नौर के सौजन्य से किन्नौर जिला के डी.ए.वी विद्यालय रिकांग पिओ में ‘वो-दिन’ योजना के तहत एक दिवसीय संवेदीकरण शिविर का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता विद्यालय के प्राध्यापक राकेश कुमार ने की।

इस अवसर पर थाना प्रभारी रिकांग पिओ जानेश्वर ने विद्यालय के छात्र-छात्राओं को नशे के दुष्प्रभाव बारे जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि आज के समय में युवा पीढ़ि में नशे का प्रभाव अधिक देखने को मिल रहा है। ऐसे में यह आवश्यक हो जाता है कि किशोर अवस्था में ही छात्रों को नशे के दुष्प्रभावों बारे जागरूक किया जाए। उन्होंने इस जागरूकता शिविर को आयोजित करने के लिए विभाग की सराहना की तथा कहा कि ऐसे आयोजन समय-समय पर विभिन्न विद्यालयों में आयोजित किए जाने चाहिए।

इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग की डॉ. अन्वेषा ने छात्र-छात्राओं को मासिक धर्म पर जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि महामारी का समय लड़कियों के लिए विशेष होता है तथा इस दौरान लड़कियों को नैतिक सहयोग की आवश्यकता होती है जो कई बार उन्हें नही मिल पाता है जिससे उन्हें कठिनाई का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि महामारी के समय खान-पान व सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए तथा आईरन युक्त आहार भरपूर मात्रा में ग्रहण करना चाहिए। इसके अतिरिक्त, उन्होंने छात्राओं को महामारी के दौरान स्वच्छता, नैपकिन पैड के उपयोग व निपटान बारे विस्तृत जानकारी प्रदान की।

आयुर्वेद विभाग के डॉ अमन यादव ने उपस्थित छात्र व छात्राओं को एनीमिया के बारे में जानकारी प्रदान की तथा बताया कि वर्तमान में प्रदेश में एनीमिया ग्रस्त बच्चे 55.4 प्रतिशत है तथा किन्नौर जिला में 75.6 प्रतिशत है। उन्होंने बच्चों को जंक-फूड न खाने की सलाह दी तथा बच्चों से आग्रह किया कि वह पौष्टिक आहार का ग्रहण करें।

पैरा-लीगल विभाग के अधिवक्ता दीपक नेगी ने पॉक्सो एक्ट तथा जुवेनाईल जस्टिस अधिनियम के बारे में उपस्थित जनों को जागरूक किया।

इस अवसर पर चित्रकला प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में 19 छात्राओं ने भाग लिया जिसमें आंचल ने प्रथम, वरूण नेगी ने द्वितीय तथा तनुश्री ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को विद्यालय के प्राध्यापक द्वारा स्मृति चिन्ह व प्रशस्ति पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया।

डी.ए.वी विद्यालय समिति द्वारा इस अवसर पर जिला कार्यक्रम विभाग के आयोजकों व विशेष वक्ताओं को पौधे भेंट कर सम्मानित किया गया।

शिविर के अंत में विद्यालय के प्राचार्य राकेश कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि इस तरह के जागरूकता शिविरों का आयोजन समय-समय पर होना चाहिए ताकि जिला के लोग खासकर जागरूक हो सकें।

इस अवसर पर जिला कार्यक्रम विभाग की सांख्यिकी सहायक अंजू नेगी, महिला कल्याण अधिकारी उर्वशी सोबे तथा डी.ए.वी विद्यालय के अध्यापक व छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *