June 15, 2024

पंजाब शुरू से ही भारतीय सभ्यता और संस्कृति का पालक रहा है: भगवंत मान

1 min read

शिवालिक पत्रिका,अमृतसर,

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जी-20 सम्मेलन के लिए आए डैलीगेटों को विश्व भर में राज्य की शानदार विरासत, शांति, तरक्की और खुशहाली के दूत बनने का न्योता दिया। गोबिन्दगढ़ किले में डैलीगेटों के लिए रात के खाने की मेज़बानी करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब खुशकिस्मत है कि जी-20 सम्मेलन के दौरान राज्य में इन गणमान्यों की मेज़बानी करने का मौका मिला है। उन्होंने आशा अभिव्यक्त की कि दौरे के दौरान आए हुए गणमान्यों का राज्य में ठहराव आरामदायक रहा होगा और उन्होंने राज्य की गरिमापूर्ण महमाननिवाज़ी का आनंद माना होगा। भगवंत मान ने गणमान्यों को विश्व के कोने-कोने में राज्य की ‘शानदार विरासत, शांति, तरक्की और खुशहाली के दूत’ बनने की अपील की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब महान गुरूओं, संतों, पीरों और पैगंबरों की पवित्र धरती है। भगवंत मान ने कहा कि पंजाब शुरू से ही भारतीय सभ्यता और संस्कृति का पालक रहा है। उन्होंने कहा कि हरित क्रांति के युग की शुरुआत से लेकर देश की सरहदों की बहादुरी के साथ रक्षा करने तक पंजाबियों ने विनम्रता के साथ देश की सेवा करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी।

मुख्यमंत्री ने डैलीगेटों को अवगत करवाया कि गुरूओं और पीरों की बसाई इस धरती ने कई बहादुर पुत्र पैदा किये हैं, जिन्होंने अपनी सख़्त मेहनत और लगन के साथ हर क्षेत्र में अलग स्थान कायम किया है। उन्होंने कहा कि देश का अन्नदाता होने के साथ-साथ पंजाब को कई नामी उद्यमी और उद्योगपति पैदा करने का भी मान हासिल है। भगवंत मान ने कहा कि यह हमारे लिए मान वाली बात है कि अपने उद्यमी हुनर और सूझ-बूझ के लिए विश्व भर में जाने जाते मेहनती पंजाबियों ने न सिर्फ़ अपने राज्य और देश, बल्कि विश्व स्तर पर सामाजिक आर्थिक विकास में बड़ा योगदान डाला है। उन्होंनेे यह भी कहा कि यहाँ आए मेहमानों को विश्व भर के पंजाबियों के अथाह योगदान को प्रतिबिंबित करना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने डैलीगेटों के आरामदायक ठहराव के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी। उन्होंने आशा अभिव्यक्ति कि राज्य सरकार की कोशिशों के ज़रुरी नतीजे सामने आए हैं और डैलीगेटों ने राज्य की गरिमापूर्ण आतिथ्य का आनंद माना है। भगवंत मान ने कहा कि प्रतिनिधि अपने साथ-साथ पंजाब दौरे की ताज़ी यादें साथ लेकर जाएंगे, जो जीवन भर उनके सफ़र का हिस्सा रहेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *