April 14, 2024

राजकीय महाविद्यालय महिन भाषण प्रतियोगिता 15 अप्रैल

1 min read

राज घई, श्री आनंदपुर साहिब 15 अप्रैल डॉ. बाबासाहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती के अवसर पर बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर का जीवन और दर्शन विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रो. विपन कुमार ने कहा कि इस भाषण प्रतियोगिता में प्रथम आने वाले बी.ए. दूसरे भाग की प्रीति व बंधना ने बताया कि डॉ. अम्बेडकर भारत के महान व्यक्ति हैं जिन्होंने संविधान में धर्मनिरपेक्षता के आदर्शों को स्थापित किया। दूसरे नंबर पर रहीं रिया और ईसा रानी ने कहा कि अंबेडकर जी को यूरोपीय और भारतीय भाषाओं का ज्ञान था। तीसरे नंबर पर आने पर बीए पार्ट वन और बीए की पूजा होती है। दूसरे भाग की सोनिया ने कहा कि अंबेडकर जी ने कहा था कि बिना सामाजिक स्वतंत्रता और समानता के लोग लोकतंत्र की स्थापना संभव नहीं है। राज्य सत्ता की वास्तविक उपलब्धि लोगों को उनके अधिकार दिलाना है। उनका मानना था कि महिलाओं की प्रगति के बिना समाज का विकास संभव नहीं है। उन्होंने सरकार को कृषि आधारित उद्योगों के विकास के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार एक पौधे को पानी की आवश्यकता होती है, उसी प्रकार समाज को भी श्रेष्ठ विचारों के प्रचार-प्रसार की आवश्यकता है। इस मौके पर डॉ. दिलराज कौर व प्रो. बॉबी ने कहा कि बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर के प्रयासों से ही भारत में सामाजिक और आर्थिक लोकतंत्र की स्थापना हुई। डॉ. दर्शन ने कहा कि बाबासाहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर जी भारतीय संविधान में स्वतंत्रता, समानता, न्याय और बंधुत्व के आदर्शों के निर्माता थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *