June 19, 2024

स्कूली बच्चों को दिए जाते मिड डे मील में और अधिक पौष्टिक तत्वों को यकीनी बनाया जाये : डी. पी. रेड्डी

1 min read

चंडीगढ़, राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ते बच्चों को मुहैया करवाए जा रहे मिड डे मील में और अधिक पौष्टिक तत्वों को यकीनी बनाने पर ज़ोर देते हुये पंजाब राज्य ख़ाद्य आयोग के चेयरमैन डी. पी. रेड्डी ने कहा कि खाना पकाने के लिए तैनात कुक (रसोइया) की तरफ से अपेक्षित साफ़-सफ़ाई को यकीनी बनाया जाये। यहां मगसीपा में स्कूल शिक्षा विभाग के साथ राज्य में मिड डे मील सम्बन्धी मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये रेड्डी ने कहा कि समय-समय पर बच्चों की सेहत जांच करना भी समय की ज़रूरत है। इसके इलावा बच्चों का हैल्थ प्रोफाइल (सेहत सम्बन्धी विवरण) बनाने सम्बन्धी ज़रुरी कदम उठाए जाएँ जिससे बच्चों की तंदरुस्ती के बारे सही मूल्यांकन किया जा सके। चेयरमैन ने विभाग के अधिकारियों को कॉर्पोरेट सामाजिक ज़िम्मेदारी ( सीएसआर) के अंतर्गत फंडों का प्रबंध करने के लिए भी कहा जिससे आने वाले 6 महीनों में राज्य भर के स्कूलों में विद्यार्थियों को पीने वाला साफ़ पानी मुहैया करवाने के लिए आर. ओ. लगाये जाने को यकीनी बनाया जा सके। इसके इलावा रेडी ने यह भी कहा कि आयोग की तरफ से मिड डे मील सम्बन्धी बनाई गई लघु फ़िल्म विभाग के एजूसेट प्लेटफार्म पर अपलोड की जाये। उन्होंने कहा कि कुक और बच्चों की सुरक्षा के मद्देनज़र धुएँ से छुटकारा पाने के लिए प्राप्त स्रोतों के मुताबिक, एग्जास्ट फेन प्रदान किये जाएँ।रेड्डी ने इस सम्बन्ध में अन्य राज्यों द्वारा अपनाएं गए बढ़िया अभ्यासों से सीखने की महत्ता पर ज़ोर दिया। आयोग की गतिविधियों के बारे जागरूकता फैलाने के लिए सोशल मीडिया की महत्ता पर ज़ोर देते हुये चेयरमैन ने शिक्षा विभाग को आयोग के सोशल मीडिया हैंडलों की पालना करने के लिए कहा जिससे आयोग की अलग-अलग पहलकदमियों के लिए व्यापक पहुँच को यकीनी बनाया जा सके। लोगों की तरफ से सुझाव देने और जागरूकता फैलाने के मद्देनज़र सभी स्थानों पर नोटिस बोर्ड और शिकायत बॉक्स लगाए जाने की भी ताकिद की गई। चेयरमैन और सदस्यों ने फील्ड दौरों के अपने तजुर्बे सांझे किये और कुछ महत्वपूर्ण सुझाव दिए। स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों की तरफ से भरोसा दिया गया कि इसको ध्यान में रखा जायेगा और उचित ढंग से इस पर अमल किया जायेगा। इस मौके पर अन्यों के इलावा ए. के. शर्मा, आईआरएस (सेवामुक्त), प्रीति चावला, इंद्रा गुप्ता, विजय दत्त, चेतन प्रकाश धालीवाल, पंजाब राज्य ख़ाद्य आयोग के मैंबर और अधिकारी, डायरैक्टर जनरल स्कूल शिक्षा विनय बुबलानी और स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *