June 19, 2024

85 वर्ष की उम्र से अधिक व 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांग मतदाताओं के घर से मतदान की प्रक्रिया शुरु

1 min read

लोकतंत्र के महापर्व में दिव्यांग व बुजुर्ग मतदाताओं ने उत्साहपूर्वक किया मतदान: जिला निर्वाचन अधिकारी

झज्जर, जिला निर्वाचन अधिकारी कैप्टन शक्ति सिंह ने बताया कि फॉर्म 12-डी भरकर घर से मतदान की विकल्प चुनने वाले 85 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों व 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांग मतदाताओं का उनके घर से मतदान कराने की प्रक्रिया शनिवार को शुरू हो गई। पहले दिन 100 मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया व लोकतंत्र के महापर्व में सहभागी बने। जिले में चारों विधानसभा (बहादुरगढ़, बेरी, बादली व झज्जर) में 20 मोबाइल पोलिंग पार्टियों द्वारा मतदान करवाया गया। पूरे जिले में शांतिपूर्ण ढंग से मतदान प्रक्रिया संपन्न हुई व मतदाताओं ने उत्साहपूर्वक लोकतंत्र के महापर्व में हिस्सा लेते हुए मतदान किया।
उन्होंने बताया कि निर्वाचन आयोग ने 85 वर्ष से अधिक उम्र के वृद्धजनों के साथ ही 40 फीसदी से अधिक दिव्यांगजनों को घर बैठे मतदान करने की सुविधा दी है। इसके लिए अशक्त वोटरों का बीएलओ के माध्यम से घर पर ही फार्म-12 डी उपलब्ध कराए गए थे। जिले में कुल 110 वोटरों ने बीएलओ के जरिये आवेदन करते हुए घर से मतदान का विकल्प चुना है, जिनमें से शनिवार को घर से मतदान के पहले दिन 100 मतदाताओं ने पोस्टल बैलेट पेपर के जरिये अपना मतदान किया। झज्जर विधानसभा क्षेत्र में इस श्रेणी के 22 मतदाताओं ने आवेदन किया था जिनमें से पहले दिन 21 मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। बेरी विधानसभा क्षेत्र में 21 मतदाताओं का घर से मतदान के लिए आवेदन प्राप्त हुआ था जिनमें से पहले दिन 20 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग करते हुए वोट डाला। बादली विधानसभा क्षेत्र में 35 मतदाताओं ने घर से मतदान के लिए आवेदन किया था जिनमें से 31 मतदाताओं ने शनिवार को अपना वोट डाला। बहादुरगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 32 मतदाताओं का आवेदन प्राप्त हुआ था जिनमें से 28 मतदाताओं ने अपने घर से मताधिकार का प्रयोग करते हुए लोकतंत्र के महापर्व में सहभागिता की।
उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग के नियमानुसार जिले में सोमवार को भी मतदान की प्रक्रिया जारी रहेगी व जो मतदाता सोमवार को उपलब्ध होंगे मोबाइल पोलिंग टीमों द्वारा उनकी वोटिंग करवाई जाएगी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि फार्म-12 डी भरने वाले अशक्त वोटरों को घर बैठे पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान करने की सुविधा निर्वाचन आयोग की ओर से दी गई है। ऐसे मतदाताओं के घर-घर जाकर मतदान कराने के लिए जिले में के चार विधानसभा क्षेत्रों के लिए कुल 20 मोबाइल पोलिंग टीमें बनाई गई हैं। जिला की चारों विधानसभा का पोलिंग शेड्यूल तैयार कर इसकी सूचना सभी प्रत्याशियों के साथ साझा किया गया है।

➡️ लोकतंत्र में वोट का महत्व समझें व सभी करें मतदान
खेड़ी खुमार गांव निवासी 92 वर्षीय जगदीश ने अपने घर से मताधिकार का प्रयोग करने के बाद कहा कि चलने-फिरने में असमर्थ बुजुर्गों को घर से ही मतदान करने की बहुत अच्छी पहल की है। नि:संदेह इससे हमारे जैसे बुजुर्ग भी अपने वोट का सरलता से प्रयोग कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के पर्व में मतदान करने पर बेहद गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं व सभी को लोकतंत्र में वोट के महत्व को समझते हुए हर मतदाता को मतदान करना चाहिए।

➡️ घर से मतदान के लिए 20 टीमों का गठन
बुजुर्गों व दिव्यांग मतदाताओं का घर से मतदान करवाने के लिए जिले की प्रत्येक विधानसभा में 5 टीमों का गठन किया गया है। प्रत्येक टीम में सेक्टर मजिस्ट्रेट, पीठासीन अधिकारी, पोलिंग ऑफिसर, माइक्रो ऑब्जर्वर, वीडियोग्राफर व पुलिस कर्मचारी शामिल हैं। सभी मोबाइल टीमों को मतदान के लिए आवश्यक सामग्री की किट प्रदान की गई है व गोपनीय ढंग से मतदान सुनिश्चित करने के लिए सभी जरूरी सामग्री प्रदान की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *