June 20, 2024

गरीबों और बेघरों के लिए मकानों की ग्रांट में घपला करने वाली दोषी महिला विजीलैंस ब्यूरो द्वारा गिरफ़्तार

1 min read

शिवालिक पत्रिका,चंडीगढ़ ,
भारत सरकार की इंदिरा आवास योजना के अंतर्गत गरीब और बेघरों के लिए साल 2012 में ग्राम पंचायत गाँव महमदवाल, ज़िला कपूरथला को प्राप्त हुई कुल 13,50,000 रुपए की ग्रांट में से मिलीभुगत के द्वारा कुल 45,000 रुपए राशि हड़पने के दोष अधीन विजीलैंस ब्यूरो पंजाब की तरफ से आज शुक्रवार को गाँव गौरे की दोषी चरन कौर को गिरफ़्तार किया गया है। वह पिछले 4 साल से फ़रार चली आ रही थी। वर्णनयोग्य है कि छह साल पहले दर्ज इस मुकदमे में शामिल कुल 132 दोषियों में से अब तक 117 दोषियों को गिरफ़्तार किया जा चुका है और बाकी दोषियों की सक्रियता के साथ खोज जारी है।

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए विजीलैंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि ब्लॉक ढिल्लवां के अधीन आते गाँव महमदवाल के गरीब और बेघरों के लिए भारत सरकार की इंदिरा आवास योजना के अंतर्गत साल 2012 में ग्राम पंचायत गाँव महमदवाल को प्राप्त कुल 13,50,000 रुपए की ग्रांट को समकालीन ए. डी. सी विकास- कम- मुख्य कार्यकारी अफ़सर ज़िला परिषद कपूरथला सतीश चंद्र वशिष्ठ ने आसा सिंह सरपंच गाँव महमदवाल और कुलवंत सिंह पंचायत सचिव के साथ मिलीभुगत करके अयोग्य लाभार्थियों के नाम पर अलग अलग चैक काट कर उस ग्रांट को खुर्द-बुर्द कर दिया था। उन्होंने बताया कि उपरांत डिप्टी कमिशनर कपूरथला की सिफारिश पर अलग अलग अधिकारियों की पाँच सदस्यीय कमेटी ने फिजिकल वैरीफिकेशन करवाई गई तो ज़िला कपूरथला में पड़ते 31 गाँवों के 411 अयोग्य लाभार्थियों को साल 2011-12 के दौरान 1,80,00,000 रुपए की नाजायज अदायगी की गई पाई गई।

इस सम्बन्ध में विजीलैंस ब्यूरो की तरफ से 132 दोषियों के खि़लाफ़ मुकदमा नंबर 01 तारीख़ 03- 02- 17 को आई. पी. सी की धारा 409, 420, 467, 468, 471, 120-बी और भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की धारा 13(1), 13(2) के अधीन विजीलैंस ब्यूरो के थाना जालंधर रेंज में दर्ज किया गया। इस केस में उक्त दोषी चरन कौर निवासी गाँव गौरेः, ज़िला कपूरथला को पड़ताल के उपरांत तारीख़ 04- 02- 2019 को नामज़द किया गया था जिसको आज गिरफ़्तार किया गया है।

प्रवक्ता ने बताया कि उक्त दोषी चरन कौर की तरफ से अयोग्य लाभार्थी होते हुए इस इंदिरा आवास योजना के अंतर्गत कच्चे मकानों को पक्का बनाने के लिए तारीख़ 14- 03- 2012 को अलग-अलग चैकों के द्वारा कुल 45,000 रुपए की मिली ग्रांट गाँव गौरेः के सरपंच सुखविन्दर सिंह और पंचायत सचिव कुलवंत सिंह की मिलीभुगत के साथ हड़प ली थी।

गौरतलब है कि उपरोक्त मुकदमे में कुल 132 दोषियों में से अब तक 117 दोषियों को गिरफ़्तार किया जा चुका है और बाकी दोषियों को गिरफ़्तार करने के लिए उनके ठिकानों पर विजीलैंस ब्यूरो की तरफ से दबिश दी जा रही है जिनको जल्द गिरफ़्तार कर लिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *