June 20, 2024

पहले साल 28362 नौजवानों को सरकारी नौकरियों देकर राज्य सरकार नया कीर्तिमान स्थापित किया: मुख्यमंत्री

1 min read

पी. एस. पी. सी. एल. के 1320 सहायक लाईनमैन को नियुक्ति पत्र सौंपे
शिवालिक पत्रिका, चंडीगढ़,
मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज पंजाब राज्य पावर निगम लिमटेड (पी. एस. पी. सी. एल.) के 1320 सहायक लाईनमैनों को नियुक्ति पत्र सौंपते हुये कहा कि राज्य सरकार ने अपने कार्यकाल के पहले साल में 28362 नौजवानों को सरकारी नौकरियों देकर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। यहां टैगोर भवन में नियुक्ति पत्र वितरण समारोह के दौरान बड़ी संख्या में उम्मीदवारों को रूबरू होते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि नौकरी चुने गए उम्मीदवारों के लिए बहुत अहम जि़म्मेदारी लेकर आती है क्योंकि उन्होंने मिशनरी भावना के साथ समाज की सेवा करनी होती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी उम्मीदवारों का चयन पूरी तरह मेरिट और पारदर्शिता के आधार पर किया गया है और यह नौकरी उनकी सख़्त मेहनत का नतीजा है। भगवंत मान ने पंजाब सरकार की तरफ से नौजवानों को परिवार का हिस्सा बनने पर स्वागत करते हुये उम्मीद जतायी कि वह अपनी ड्यूटी ईमानदारी और समर्पण भावना के साथ निभाएंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सफलता के लिए कोई शॉर्ट कट नहीं होता और सिर्फ़ सख़्त मेहनत से ही आम व्यक्ति अपने सपने पूरे कर सकता है। उन्होंने कहा कि यह नौकरी उनकी आखिरी मंजिल नहीं है क्योंकि उनके जीवन में अभी बहुत पड़ाव पार करने हैं। भगवंत मान ने कहा कि नये चुने गए उम्मीदवारों को अपनी मेहनत जारी रखनी चाहिए और सफलता किसी न किसी रूप में उनके हाथ ज़रूर आयेगी। मुख्यमंत्री ने उम्मीदवारों को नकारात्मक सोच रखने वाले लोगों की संगत से दूर रहने के लिए भी कहा क्योंकि यह राज्य की तरक्की में रुकावट बनते हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब निवासियों ने ‘आप’ की सरकार बना कर राज्य की राजनीति में नया बदलाव लाया है। भगवंत मान ने कहा, ‘‘जो लोग सत्ता में होते हुए महलों में से बाहर नहीं निकले थे, उनको राज्य के राजनैतिक नक्शे से बाहर कर दिया गया है।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली किसी भी राज्य के विकास के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण होती है, इसलिए पी. एस. पी. सी. एल. सही मायनों में पंजाब की रीढ़ की हड्डी है। उन्होंने कहा कि खेती प्रधान राज्य होने के कारण बिजली सप्लाई को पूरा करना किसी भी सरकार के लिए बड़ी चुनौती है। भगवंत मान ने कहा कि यह बड़े मान और संतोष की बात है कि सरकार के अथक यत्नों स्वरूप राज्य में से लंबे कट लगने के दिन ख़त्म हो गए हैं क्योंकि पंजाब अतिरिक्त बिजली बनने की तरफ बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार के यत्नों स्वरूप राज्य में बिजली उत्पादन में 83 प्रतिशत का विस्तार हुआ है। भगवंत मान ने कहा कि पछवाड़ा कोयला खाने से बिजली उत्पादन के लिए कोयले की सप्लाई कई सालों बाद फिर शुरू हुई है। उन्होंने कहा कि अब तक इस कोयला खाने से 5 लाख मीट्रिक टन कोयला प्राप्त किया जा चुका है और इसने बिजली सप्लाई बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार के ठोस यत्नों स्वरूप केंद्र सरकार महानदी कोलफीलडज़ लिमटिड (एम. सी. एल.) से तलवंडी साबो पावर लिमटिड (टी. एस. पी. एल.) को कोयले की सप्लाई के लिए आर. एस. आर. (रेल-समुद्र-रेल) की लाजि़मी शर्त को माफ करने के लिए सहमत हुई थी। भगवंत मान ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय बिजली मंत्री के पास मनमानी का यह मुद्दा मीटिंग के दौरान उठाया था, जिसके बाद इस सम्बन्धी फ़ैसला लिया गया था। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार राज्य के हितों की रक्षा के लिए पूरी तरह वचनबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार पी. एस. पी. सी. एल. को मज़बूत करने के लिए वचनबद्ध है। भगवंत मान ने कहा कि वह पहले ही सभी विभागों को अपने बकाया बिलों को पी. एस. पी. सी. एल. के पास जमा करवाने के लिए कह चुके हैं जिससे इसकी वित्तीय स्थिति और मज़बूत हो सके। उन्होंने कहा कि बिजली पैदा करने के रिवायती तरीकों के इलावा राज्य में बिजली पैदा करने के अन्य तरीकों को भी उत्साहित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि पंजाब में पानी और बिजली की बचत करने के लिए राज्य सरकार फ़सली विभिन्नता को बड़े स्तर पर उत्साहित कर रही है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि इससे पी. एस. पी. सी. एल. पर बिजली उत्पादन के दबाव को घटाने में मदद मिलेगी और अतिरिक्त बिजली का प्रयोग अन्य सैक्टरों के विकास के लिए भी किया जा सकेगा। भगवंत मान ने कहा कि राज्य सरकार वैकल्पिक फ़सलों के उचित मंडीकरण को यकीनी बना कर राज्य और इसके किसानों के हितों की रक्षा के लिए वचनबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार का हर कदम आम आदमी का जीवन स्तर सुधारने के उद्देश्य से है। उन्होंने कहा कि 600 यूनिट मुफ़्त बिजली, रोजग़ार, स्कूलों और अस्पतालों के कायाकल्प और अन्य फ़ैसले राज्य का चेहरा बदलने का काम कर रहे हैं। भगवंत मान ने प्रण किया कि उनकी सरकार का हर फ़ैसला आम आदमी और राज्य की भलाई को यकीनी बनाऐगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा, सेहत और रोजग़ार के क्षेत्र उनकी सरकार के तीन प्रमुख क्षेत्र हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा साल में इन तीनों क्षेत्रों में बड़ी तबदीलियां देखने को मिलेंगी क्योंकि राज्य सरकार इसलिए पूरे उत्साह के साथ काम कर रही है। भगवंत मान ने कहा कि राज्य सरकार का मुख्य ध्यान इन सैक्टरों में ठोस बुनियादी ढांचे और मानवीय शक्ति के द्वारा राज्य में से नौजवानों के विदेश जाने के रुझान को रोकना है। इससे पहले कैबिनेट मंत्री हरभजन सिंह ई. टी. ओ ने मुख्यमंत्री और अन्य शख्सियतों का स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *