June 19, 2024

राज्य सरकार पंजाब को नंबर एक बनाने के लिए उद्योग, एमएसएमई और स्टार्टअप के लिए अनुकूल वातावरण मुहैया करवाने के लिए वचनबद्ध :रोजगार उत्पति मंत्री

1 min read

शिवालिक पत्रिका,चंडीगढ़, पंजाब के रोजगार, कौशल विकास एवं प्रशिक्षण मंत्री अमन अरोड़ा ने कहा कि पंजाब को देश का नंबर एक राज्य बनाने के लिए मुख्यमंत्री स.भगवंत मान के नेतृत्व वाली सरकार उद्योगों, एमएसएमई और स्टार्टअप के लिए अनुकूल माहौल बनाने के लिए ठोस प्रयास कर रही है। यहां टाइकून चंडीगढ़ सम्मान समारोह में बतौर मुख्य अतिथि पहुँचे अमन अरोड़ा ने 17 आईटी कंपनियो का शानदार प्रदर्शन और विकास के लिए सॉफ्टवेयर टैक्नालाजी पार्कस ऑफ इंडिया (एसटीपीआई) पुरस्कार से सम्मानित किया ताकि क्षेत्र को आई.टी. हब के रूप में विकसित करने के लिए उनके द्वारा किए गए उत्कृष्ट प्रयासों को मान्यता दी जा सके। अमन अरोड़ा ने कौशल युवाओं के पलायन पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि आई.टी. क्षेत्र इस प्रवृत्ति को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है और इस संबंध में राज्य सरकार के प्रयासों के पूर्ति के लिए सॉफ्टवेयर टैक्नालॉजी पार्क ऑफ इंडिया (स्ञ्जक्कढ्ढ) और टाइकून को आगे आना चाहिए। पंजाब मुख्य तौर पर कृषि प्रधान राज्य होने के नाते, खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में अग्रणी बनने की अपार क्षमता रखता है। उन्होंने कहा कि राज्य में एक विशाल मानव संसाधन उद्योग होने के कारण यह आईटी क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है और पंजाब सरकार का उद्देश्य पंजाब  विशेष रूप से एसएएस नगर (मोहाली) को एक विश्व स्तरीय आईटी हब बनाना है। अमन अरोड़ा ने कहा कि पंजाब को एक प्रमुख औद्योगिक और निर्यात केंद्र में बदलने और निवेशकों के लिए एक सक्षम वातावरण बनाकर मेनुफैक्चरिंग और सर्विसिस सैक्टर को बढ़ावा देने के उद्देश्य से, राज्य सरकार एक नई औद्योगिक और व्यापार विकास नीति लेकर आई है। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि पंजाब में दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (मोहाली और अमृतसर) और चार घरेलू हवाई अड्डे है। इसके इलावा पंजाब में देश की सबसे अच्छी सडक़ और रेल कनेक्टिविटी है। उन्होंने आगे बताया कि राज्य के छह प्रमुख शहरों के बीच मेट्रो सेवा शुरू करने की संभावना तलाशी जा रही है। उद्योगों को अपने संचालन के लिए पंजाब का चुनाव करने के लिए प्रोत्साहित करते हुए अमन अरोड़ा ने इस अवसर पर उपस्थित उद्योगपतियों को सरकार की तरफ से हर संभव सहयोग का भरोसा दिया। उन्होंने कहा कि रोजगार पैदा करने और राज्य की समग्र क्षमता को बढ़ावा देने के लिए उद्योगों की सफलता का लाभ उठाने पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए। टाइकून चंडीगढ़ के भविष्य-उन्मुख और उद्देश्य-संचालित दृष्टिकोण की प्रशंसा करते हुए, उन्होंने टाइकून को रोजगार के स्थायी अवसर पैदा करने के लिए राज्य सरकार के प्रयासों का समर्थन करने के लिए कहा। टाइकून चंडीगढ़ के प्रधान राबिन अग्रवाल और एसटीपीआई के डायरैक्टर परीतोष डंडरियाल ने राज्य में स्टार्टअप संस्कृति को बढ़ावा देने और हर तरह की सहायता प्रदान करने के लिए पंजाब सरकार का धन्यवाद किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *