June 15, 2024

भारत को धड़ल्ले से कच्चे तेल का निर्यात कर रहा रूस, ऑयल कंपनियों को डिस्काउंट रेट पर क्रूड की सप्लाई

1 min read

भारत की ओर से रूस से कच्चे तेल का आयात लगातार बढ़ता जा रहा है और जनवरी में अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। यह लगातार चौथा महीना है, जब रूस से कच्चे तेल का आयात पारंपरिक आपूर्तीकर्ता मध्य पूर्व के देशों से अधिक रहा है। ये सब रूस की ओर से कच्चे तेल की खरीद पर बाजार के मुकाबले भारतीय तेल कंपनियों को दिए जा रहे डिस्काउंट के कारण संभव हो पाया है।

कार्गो परिवहन पर नजर रखने वाली वार्टेक्सा के आंकड़ों के अनुसार, रूस- यूक्रेन युद्ध से पहले भारत के कच्चे तेल आयात में रूस का हिस्सा एक प्रतिशत से भी कम था, जो कि अब बढ़कर 1.27 मिलियन बैरल प्रतिदिन या 28 प्रतिशत हो गया है।

दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल खरीददार

अमेरिका और चीन के बाद भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल खरीददार देश है। युद्ध के बाद अमेरिका और पश्चिमी देशों की ओर से प्रतिबंध लगाए जाने के कारण रूस को कच्चे तेल बिक्री में मुश्किलों का सामना पड़ा रहा है,जिस कारण रूस अपने कच्चे तेल खरीददारों को डिस्कांउट दे रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *