June 15, 2024

नरेन्द्र मोदी के ‘मन की बात‘ कार्यक्रम के 100 एपिसोड पूर्ण

1 min read

शिवालिक पत्रिका, चंडीगढ़, हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘मन की बात‘ कार्यक्रम से देश के दूर दराज क्षेत्रों में निस्वार्थ भाव से कार्य करने वाले अनेकों कर्मठ समाज सेवियों को नई पहचान दी है। दत्तात्रेय आज राजभवन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘मन की बात‘ कार्यक्रम के 100वें एपिसोड के पूर्ण होने पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने मन की बात कार्यक्रम में हरियाणा के नौ प्रतिभागियों सुनील जागलान , सुश्री रजनी , प्रशांत सिंह कन्हैया , संदीप कुमार , वीरेंद्र यादव , लछमन दास , सुभाष कांबोज , प्रदीप सांगवान, सुश्री तनु मलिक को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं भी प्रदान की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सही अर्थों में समानुभूति रखने वाले सम्पूर्ण व्यक्ति हैं। उनमें जनमानस के साथ नियमित अंतराल में सम सामयिक विषयों पर संवाद करने की गजब की क्षमता है। जन सामान्य के साथ अपने इस संवाद कार्यक्रम के अंतर्गत उन्होंने स्वच्छ भारत, एक भारत-श्रेष्ठ भारत, परीक्षा पे चर्चा, जल संरक्षण, पर्यावरण संरक्षण, स्टार्टअप इंडिया, मेक इन इंडिया, फिट इंडिया, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, स्वस्थ भारत, योग, गीत, संगीत, किताब के प्रति प्रेम, स्थानीय कलाओं और देसज कारीगरों को पहचान और ब्रांड की कीमत सहित अनेकों विषयों पर चर्चा कर समाज को नई दिशा दी व इन क्षेत्रों में निस्वार्थ भाव से कार्य करने वाले सामान्य लोगों को नई पहचान दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने इस संवाद से देश के नौजवानों में देश भक्ति की एक नई लहर उत्पन्न की और उन्हें नेता जी सुभाष चन्द्र बोस, भगत सिंह, सरदार पटेल, गुरू गोविंद सिंह, भगवान बिरसा मुंडा जैसे शहीदों के प्रति जानने और सम्मान प्रकट करने के लिए प्रेरित किया। मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना‘, ‘वोकल फार लोकल‘, 21वीं सदी की ‘तकनीकी दक्षता‘, ‘प्रतिभा परिश्रम‘, भारत केंद्रित नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रति युवाओं को जागृत किया और देश को नई दिशा प्रदान की। उन्होंने बखूबी बताया कि समाज में परिवर्तन का कार्य वैज्ञानिक, तर्कशील व भारतीय मूल्यों पर आधारित संस्कारवान शिक्षा द्वारा ही प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश की विरासत संस्कृति और धरोहर को घरेलू पर्यटन से जोड़ते हुए इसमें नए रोजगार के अवसर उत्पन्न करने की भी प्रेरणा दी। इसके साकारात्मक परिणाम देखने को मिले हैं और देश में घरेलू पर्यटन खूब प्रगति कर रहा है। दत्तात्रेय ने कहा कि उनका यह कार्यक्रम राजनीतिक से ऊपर उठकर सीधे जन सरोकारों से संबंधित है। इसके माध्यम से उन्होंने देश को एकता के सूत्र में पिरोते हुए जन सामान्य को राष्ट्र हित की भावना से भर दिया है। इस अवसर पर हरियाणा के बिजली मंत्री रणजीत सिंह, मुख्य प्रधान सचिव डी.एस. ढेसी, मुख्य सचिव संजीव कौशल, हरियाणा के पुलिस महानिदेशक पी.के. अग्रवाल, अतिरिक्त मुख्य सचिव टी.वी.एस.एन. प्रसाद, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती जी.अनुपमा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव वी.उमा शंकर, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव अमित अग्रवाल, राज्यपाल सचिव अतुल द्वेदी व मन की बात कार्यक्रम में हरियाणा के प्रतिभागियों सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *