April 20, 2024

लोक सभा चुनाव- 2024:  पंजाब पुलिस, अर्ध सैनिक बलों ने राज्य भर में फ्लैग मार्च निकाला

1 min read

चंडीगढ़, लोक सभा चुनाव- 2024 से पहले आम लोगों में सुरक्षा की भावना पैदा करने के लिए, पंजाब पुलिस ने केंद्रीय हथियारबंद पुलिस बलों ( सी. ए. पी. एफ.) की टीमों के साथ राज्य भर के सभी संवेदनशील स्थानों पर फ्लैग मार्च निकाला। बताने योग्य है कि पंजाब में आम चुनाव के आखिरी पड़ाव में 1 जून को वोटें पड़ेंगी।
स्पेशल डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस ( स्पेशल डीजीपी) लॉ एंड आर्डर अर्पित शुक्ला ने बताया कि डीजीपी पंजाब गौरव यादव के दिशा- निर्देशों की पालना करते हुये सीपीज़/ एसएसपीज़ के नेतृत्व में पुलिस टीमों ने सभी 28 पुलिस जिलों में सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक फ्लैग मार्च निकाला। उन्होंने कहा कि इस अभ्यास का उद्देश्य किसी भी असुखद स्थिति से निपटने के लिए पुलिस मुलाजिमों को तैयार करने के साथ-साथ आम लोगों में विश्वास की भावना को बढ़ाना भी था।
उन्होंने कहा कि सीपीज़/ एसएसपीज़ को पहले ही राज्य भर में विशेष नाके लगाने और गश्त करने वाली पार्टियों को अपने-अपने अधिकार क्षेत्रों में समाज विरोधी तत्वों पर नजऱ रखने के लिए निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि अपराधियों, नशा और ग़ैर-कानूनी शराब तस्करों के आने-जाने पर रोक लगाने के लिए सरहदी जिलों के एस. एस. पीज को अंतरराज्यीय नाके लगा कर सरहदों को सील करने के लिए कहा गया है और किसी भी व्यक्ति को भी उनकी और उनके वाहनों की चौकिंग और जांच किये बिना राज्य में प्रवेश/ बाहर न जाने देने के लिए निर्देश दिए गए हैं।
जि़क्रयोग्य है कि राज्य भर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है और राज्य के सभी 217 एंट्री/ एग्जिट प्वाइंटों पर 57 स्थायी, 149 अस्थाई और आधुनिक यंत्रों वाले 11 हाईटैक्क नाकों समेत मज़बूत नाकों की योजना बनाई गई है और आबकारी अधिकारियों को इन अंतरराज्यीय नाकों का हिस्सा बनने के लिए आदेश दिए गए हैं।
इसके इलावा, राज्य के संवेदनशील और अति-संवेदनशील क्षेत्रों पर दबदबा बनाने के लिए केंद्रीय हथियारबंद पुलिस बलों (सीएपीएफ) की 25 कंपनियाँ राज्य के संवेदनशील जिलों में तैनात की गई हैं। इन 25 कंपनियों में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बलों (सीआरपीएफ) की पाँच कंपनियाँ, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की 15 कंपनियाँ और इंडो-तिब्बत बार्डर पुलिस (आईटीबीपी) की पाँच कंपनियाँ शामिल हैं।
स्पैशल डीजीपी ने कहा कि हम सरहदी राज्य में आज़ाद, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव करवाना यकीनी बनाने के लिए पंजाब पुलिस की बेमिसाल परंपरा को कायम रखेंगे।
उन्होंने कहा कि समूह अधिकारियों/कर्मचारियों को आदर्श चुनाव आचार संहिता के सभी पहलूओं की सख़्ती से पालना करने और आज़ाद और निष्पक्ष ढंग से चुनाव करवाने के लिए भारतीय निर्वाचन आयोग (ईसीआइ) की सभी हिदायतों और दिशा-निर्देशों की पालना करने के निर्देश दिए गए हैं।
जि़क्रयोग्य है कि आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद भगौड़े अपराधियों के विरुद्ध चल रही विशेष मुहिम के दौरान, पंजाब पुलिस ने 416 भगौड़ों को गिरफ़्तार करने में सफलता हासिल की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *