June 19, 2024

हिमाचल का पहला ट्रामा सेंटर शिमला में शुरू होगा और इसके बाद हर जिला में ट्रामा सेंटर शुरू होंगे

शिमला, केंद्र में स्वास्थ्य मंत्री रहते हिमाचल को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिलाने वाले जगत प्रकाश नड्डा दूसरी बार केंद्र में स्वास्थ्य मंत्री बने हैं। अब हिमाचल को उनसे फिर कई उम्मीदें हैं। पांच वर्ष में प्रदेश के अस्पतालों में कई ढांचागत बदलाव दिख सकते हैं। अपने पहले कार्यकाल में नड्डा ने हिमाचल को एम्स दिया था। अब यह बिलासपुर में बनकर तैयार है और क्रियाशील हो गया है।

नड्डा ने हर जिले में एक ट्रामा सेंटर बनाने का फैसला किया था। यह प्रोजेक्ट अभी तक अधर में लटका है। इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज एवं अस्पताल (आइजीएमसी) शिमला में न्यू ओपीडी में अलग से ट्रामा सेंटर बनाने का प्रस्ताव है, लेकिन अब तक यह शुरू नहीं हो पाया है। अब उम्मीद है कि हिमाचल का पहला ट्रामा सेंटर शिमला में शुरू होगा और इसके बाद हर जिला में ट्रामा सेंटर शुरू होंगे।

एम्स शुरू हो गया है लेकिन अब भी गंभीर बीमारियों के मरीजों को प्रदेश से बाहर जाना पड़ता है। हिमाचल के अस्पतालों में आधुनिक मशीनों की कमी के कारण मरीजों को बाहर से टेस्ट करवाने पड़ते हैं। जगत प्रकाश नड्डा के दूसरी बार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री बनने से प्रदेश के अस्पतालों में आधुनिक मशीनें आने की उम्मीद बढ़ गई है। जगत प्रकाश नड्डा नौ नवंबर, 2014 से 24 मई, 2019 तक केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *