April 19, 2024

वुहान के बाजार में रैकून डॉग से फैला कोरोना, डब्ल्यूएचओ ने चीन पर लगाया डेटा छुपाने का आरोप

डब्ल्यूएचओ सलाहकार समूह ने एक डाटा का विश्लेषण किया है। इस डेटा के बारे में चीनी शोधकर्ताओं ने भी अपनी प्रस्तुति दी थी। अब इसको लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चीन को फटकार लगाई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वैज्ञानिक अनुसंधान को रोकने के लिए चीनी अधिकारियों को फटकार लगाई, जिससे कोरोनो वायरस की उत्पत्ति का पता चल सके। डब्ल्यूएचओ ने (स्थानीय समय) पर चीनी अधिकारी से तीन साल पहले डेटा का खुलासा नहीं करने के कारणों के बारे में भी पूछा और जनवरी में ऑनलाइन प्रकाशित होने के बाद अब यह क्यों नहीं मिल सका। 

इससे पहले कि डेटा इंटरनेट स्पेस में गायब हो जाता, वायरस विशेषज्ञों की एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने डाउनलोड किया और शोध का विश्लेषण करना शुरू किया। टीम ने खुलासा किया कि डेटा इस विचार का समर्थन करता है कि महामारी अवैध रूप से कारोबार करने वाले रैकून कुत्तों से शुरू हो सकती है, जिसने चीन के वुहान हुआनान सीफूड होलसेल मार्केट में मनुष्यों को संक्रमित किया। जब विशेषज्ञों ने अपने चीनी समकक्षों के साथ विश्लेषण पर सहयोग करने की पेशकश की, तो टीम अंतिम परिणाम तक नहीं पहुंच सकी क्योंकि वैज्ञानिक डेटाबेस से जीन अनुक्रम हटा दिए गए थे। डब्लूएचओ के महानिदेशक डॉ. टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने कहा कि ये आंकड़े तीन साल पहले साझा किए जा सकते थे और होने भी चाहिए थे। डेटा की समीक्षा कर रही विशेषज्ञ टीम के अनुसार, शोध इस बात का सबूत देता है कि कोरोनो वायरस फैलाने के लिए जाने जाने वाले रैकून कुत्ते, लोमड़ी जैसे जानवर, वुहान बाजार में उसी स्थान पर डीएनए को पीछे छोड़ गए थे जो नए कोरोनो वायरस के फैलने के कारण थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *