June 20, 2024

इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को मज़बूत करने के लिए पंजाब में सैंटर आफ एक्सीलेंस जल्द स्थापित किया जायेगा

1 min read

शिवालिक पत्रिका, चंडीगढ़, राज्य को विकसित प्रौद्यौगिकी में एक कदम और आगे लेजाने के लिए मुख्यमंत्री स. भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार राज्य में इलेक्ट्रिक वाहन (ई. वी.) चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को और मज़बूत करने के लिए सैंटर आफ एक्सीलेंस स्थापित करने के बारे विचार कर रही है। इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत मंत्री अमन अरोड़ा ने बताया कि उन्होंने इस सम्बन्धी परिवहन, लोक निर्माण, तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण, निवेश प्रोत्साहन, हुनर विकास, पर्यटन, पी. एस. पी. सी. एल, आवास निर्माण और शहरी विकास और स्थानीय निकाय सहित सभी हिस्सेदार विभागों के साथ विचार-विमर्श किया है। अमन अरोड़ा ने पंजाब ऊर्जा विकास एजेंसी (पेडा) को हुनर विकास, प्रशिक्षण, शिक्षा, स्टैंडर्ड टेस्टिंग और बैटरी टैक्नोलॉजी को और मज़बूत करने के लिए सैंटर आफ एक्सीलेंस स्थापित करने के लिए आई. आई. टी. रोपड़ के साथ तालमेल करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही उन्होंने इलेक्ट्रिक वाहन नीति को सुचारू ढंग से लागू करने के लिए राज्य सरकार के प्रशासनिक सचिवों का वर्किंग ग्रुप बनाने के लिए भी कहा। राज्य में ई. वी. नीति को लागू करने के लिए सभी हिस्सेदार विभागों के एकजुट होने की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुये अमन अरोड़ा ने बताया कि राज्य सरकार 2025 तक 25 फ़ीसद इलेक्ट्रिक वाहनों का लक्ष्य प्राप्त करेगी। उन्होंने कहा कि ई-मोबीलिटी की तरफ तबदीली के लिए ई. वी. चार्जिंग के बुनियादी ढांचे का पहुंचयोग्य और मज़बूत नैटवर्क स्थापित करना समय की ज़रूरत है। यह न सिर्फ़ राज्य को नैट-ज़ीरो मिशन की तरफ लेकर जायेगा बल्कि देश के यातायात क्षेत्र में नवीनता लाने में भी सहायक होगा। प्रमुख सचिव बिजली तेजवीर सिंह ने कैबिनेट मंत्री को भरोसा दिया कि पी. एस. पी. सी. एल. राज्य में प्रस्तावित ई. वी. चार्जिंग स्टेशनों को बिजली कुनैकशन की तुरंत मंजूरी के लिए पूरा सहयोग देगा। पेडा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रवि भगत ने कहा कि नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों से ई. वी. चार्जिंग बुनियादी ढांचे के एकीकरण की ज़रूरत है जिससे पंजाब में मज़बूत बुनियादी ढांचा विकसित करने के लिए ई. वी. चार्जिंग स्टेशनों में कुदरती स्रोतों से पैदा ऊर्जा दी जा सके। उन्होंने कहा कि ई. वी. और फास्ट चार्जिंग बैटरियों के निर्माण से जुड़ी नवीन तकनीकों को आई. आई. टी. रोपड़ के साथ सलाह-मशवरा करके अपनाया जायेगा। पी. एम. आई. डी. सी. के सी. ई. ओ. श्रीमती ईशा कालिया ने कहा कि सैंटर आफ एक्सीलेंस पंजाब में इलेक्ट्रिक वाहनों की व्यापक मंजूरी के लिए मानक ई-चार्जिंग बुनियादी ढांचे को विकसित करने के लिए एक सेतु के तौर पर काम करेगा। पेडा के डायरैक्टर एम. पी. सिंह ने राज्य में ई. वी. चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को और मज़बूत करने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों का प्रयोग करने और इस सम्बन्धी रणनीति बनाने की ज़रूरत के बारे जानकारी दी। इस मौके पर चेयरमैन पेडा एच. एस. हंसपाल, डायरैक्टर तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण डी. पी. एस. खरबन्दा, ज्वाइंट डायरैक्टर पेडाकुलबीर सिंह संधू के इलावा जी. आई. ज़ैड, परिवहन, लोक निर्माण और स्थानीय निकाय विभाग के सीनियर अधिकारी भी मीटिंग में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *