June 15, 2024

पूर्वी कलामंच के कलाकारों ने प्रदेश सरकार की नई योजनाओं का किया व्याख्यान

1 min read

मुख्यमंत्री सुख-आश्रय कोष व फेस्टिवल ग्रांट बारे दी जानकारी

ऊना, सूचना एवं जन संपर्क विभाग के सौजन्य से चलाए जा रहे विशेष प्रचार अभियान के तहत पूर्वी कलामंच के कलाकारों ने ग्राम पंचायत डंगोली व ग्राम पंचायत जबेहड़ में लोक संगीत व नुक्कड़ नाटक के माध्यम से प्रदेश सरकार द्वारा क्रियान्वित की जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी स्थानीय लोगों को मुहैया करवाई। कलाकारों ने लोगों को जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खु ने प्रदेश की बागडोर संभालते ही 101 करोड़ रूपये की धन राशि से मुख्यमंत्री सुख-आश्रय सहायता कोष स्थापित किया। सुख-आश्रय कोष के माध्यम से उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए जरूरतमंद बच्चों व निराश्रित महिलाओं को आर्थिक सहायता दी जाएगी। उन्होंने बताया कि बडे़-बडे़ शिक्षण संस्थान जैसे आईआईटी, आईआईआईटी, आईआईएम, पोलिटैक्टिनक, नर्सिंग एवं डिग्री काॅलेजों में प्रवेश पाने के लिए सरकार द्वारा आर्थिक खर्च वहन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त उन्हें जेब खर्च के रूप् में 4 हज़ार रूपये दिए जाएंगे। इसके अलावा कलाकारों ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा वृद्धाश्रमों, बाल संरक्षण संस्थानों, नारी सेवा सदन, शक्ति सदन और विशेष गृहों में रहने वालों के लिए फेस्टिवल ग्रांट भी आरंभ की है। उन्होंने ग्रामीणों को जागरूक करते हुए बताया कि फेस्टिवल ग्रांट यानि त्यौहार अनुदान के माध्यम से लोहड़ी, मकर सक्रांति, होली सहित अन्य त्यौहार मनाने के लिए प्रति व्यक्ति 500 रूपये प्रदेश सरकार द्वारा दिया जाएगा ताकि सभी लोग त्यौहारों को सम्मानपूर्वक धूम-धाम से मना सकें। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने मंत्रीमंडल की पहली बैठक में पुरानी पेंशन बहाल करके राज्य के 1.36 लाख एनपीएस कर्मचारियों को लाभान्वित किया है।इस अवसर पर डंगोली की प्रधान कंचन रानी, वार्ड सदस्य नरेश, जसविंदर कौर, रविंद्र कौर, सतविंदर कौर, रूचि, रजनी, कश्मीर कौर और जबेहड़ के प्रधान शिव कुमार शर्मा, उप प्रधान विजय चोपड़ा, वार्ड सदस्य ऊषा, रेखा व जोगिंद्र पाल सहित स्थानीय ग्रामीण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *