June 15, 2024

सीबीजी, सीजीडी परियोजनाओं के लिए निर्बाध क्लीयरेंस प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध: अमन अरोड़ा

1 min read

सीजीडी पाइपलाइन्स बिछाने के लिए वार्षिक किराए की राशि की समीक्षा करने का भी निर्णय लिया
शिवालिक पत्रिका, चंडीगढ़,
राज्य में कम्प्रेस्ड बायोगैस (सीबीजी) और सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन (सीजीडी) प्रोजैक्टों की क्लीयरेंस प्रक्रिया में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए बैठकों के सिलसिले में पंजाब के नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत मंत्री अमन अरोड़ा ने अनुमोदन प्रक्रिया को परेशानी मुक्त और समयबद्ध बनाने के लिए एक तंत्र विकसित करने के लिए वन एवं वन्यजीव और स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया। स्थानीय सरकार के अधिकारियों के साथ एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए, अमन अरोड़ा और उनके कैबिनेट सहयोगी इंदरबीर सिंह निज्जर, स्थानीय निकाय मंत्री ने सैद्धांतिक रूप से सीजीडी पाइपलाइन्स बिछाने के लिए वार्षिक किराए की राशि की समीक्षा करने का निर्णय लिया है। बैठक के दौरान, उन्होंने सीबीजी और सीजीडी परियोजनाओं से संबंधित विभिन्न अंतर-विभागीय मुद्दों पर भी चर्चा की। वित्त आयुक्त वन एवं वन्य जीव विकास गर्ग और विभाग के अन्य अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान सीबीजी और सीजीडी परियोजनाओं के लिए वन विभाग से अनुमति देने की समय-सीमा को कम करने का निर्णय लिया गया। अमन अरोड़ा ने इस बात पर ज़ोर दिया कि निवेशकों की सुविधा के लिए विभिन्न विभागों द्वारा वसूले जाने वाले शुल्क को एक ही स्थान पर एकत्र किया जाना चाहिए। उन्होंने निदेशक पेडा को विभिन्न विभागों के पास लंबित सीबीजी और सीजीडी परियोजनाओं की एक सूची तैयार करने और अगले सप्ताह तक संबंधित विभागों को भेजने का भी निर्देश दिया, ताकि मंजूरी प्रक्रिया में तेज़ी लाई जा सके। उन्होंने आगे बताया कि राज्य की सीबीजी नीति तैयार करने के लिए जल्द ही सभी हितधारकों का एक कार्य समूह गठित किया जाएगा और समूह अप्रैल के अंत तक अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा। प्रमुख सचिव स्थानीय निकाय विवेक प्रताप सिंह, एपीसीसीएफ सौरभ गुप्ता, पीसीसीएफ आर.के. मिश्रा, मुख्य वन्यजीव वॉर्डन धरमिंदर शर्मा, टोरैंट गैस प्राइवेट लिमिटेड के महाप्रबंधक जिग्नेश वी. अग्रावत, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के वरिष्ठ प्रबंधक क्षितिज सनाध्या, वरिष्ठ प्रबंधक, थिंक गैस प्राइवेट लिमिटेड के उपाध्यक्ष आर. महेश्वरन, जीए-हेड गुजरात गैस लिमिटेड महेंद्र धा दुबे, प्रोजेक्ट मैनेजर थिंड ग्रीन एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड गौरव काठपाल और प्रोजेक्ट हेड एवरएन्वायरो रिसोर्सेज़ मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड पंकज कुमार भी बैठक में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *