April 21, 2024

छात्रों को अप टू डेट करने के लिए स्कूल ऑफ एमिनेंस खोला गया

1 min read

राज्य के छात्रों को मुफ्त गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए पंजाब सरकार की एक सराहनीय पहल

नौवीं कक्षा के लिए 323 और 11वीं कक्षा के लिए 486 छात्रों ने प्रवेश परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया है

राज घई, कीरतपुर साहिब, पंजाब सरकार ने राज्य के विद्यार्थियों को सरकारी स्कूलों में मुफ्त गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के प्रयासों के तहत एक और अनूठा कदम उठाते हुए स्कूल ऑफ एमिनेंस की शुरुआत की है। स्कूल ऑफ एमिनेंस में प्रवेश के लिए क्रमश: 323 और 486 विद्यार्थियों ने नोवी और ग्यारहवीं कक्षाओं में पंजीकरण कराकर उत्साह जताया है। दुनिया भर में चल रही प्रतिस्पर्धा के दौर में पंजाब के सरकारी स्कूलों के छात्रों को नेता बनाने के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान और शिक्षा मंत्री हरजोत बैंस की यह एक सराहनीय शुरुआत है। ऐतिहासिक शहर कीरतपुर साहिब के सरकारी सीएस स्मार्ट स्कूल को स्कूल ऑफ एमिनेंस में शामिल किया गया है, जिसमें पिछले शैक्षणिक सत्र के दौरान 742 छात्र थे, अब नौवीं कक्षा का एक वर्ग और ग्यारहवीं कक्षा के चार खंड स्कूल ऑफ एमिनेंस में शामिल हो गए हैं। कर दिया है। 19 मार्च और 16 अप्रैल को प्रवेश परीक्षा हो चुकी है, बाकी कक्षाओं में प्रवेश जारी है, कक्षा 9वीं और 11वीं के प्रवेश परीक्षा की मेरिट के आधार पर शुरू होंगे।

शिक्षा मंत्री भी क्षेत्र में छात्रों को मुफ्त मानक शिक्षा प्रदान करने के लिए स्कूल भवन और बुनियादी ढांचे को विकसित करने के लिए बहुत प्रयास कर रहे हैं। करोड़ों रुपये की लागत से स्कूल की सूरत बदली जा रही है। इस विद्यालय के भवन को सुंदर बनाने एवं जीर्णोद्धार के लिए विशेषज्ञ वास्तुविद एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने विद्यालय का भ्रमण किया है, इसके लिए शिक्षा मंत्री के निर्देशन में आवश्यक विभिन्न विभागों की समिति द्वारा बैठक की गयी है। स्कूल में छात्रों की सुविधा के लिए बदलाव किए जा रहे हैं। उपायुक्त डॉ. प्रीति यादव व एस.डी। मनीषा राणा के अलावा शिक्षा विभाग के अधिकारी लगातार स्कूल का दौरा कर रहे हैं। स्कूल ऑफ एमिनेंस में विद्यार्थियों को साइंस (मेडिकल-नॉन मेडिकल), कॉमर्स, आर्ट्स विषय में शिक्षा दी जाएगी। कॉन्वेंट और मॉडल स्कूलों से अच्छी शिक्षा प्रदान कर इन छात्रों की प्रतिभा को निखार कर भविष्य में अन्य प्रतियोगिताओं के लिए इन छात्रों को योग्य बनाया जाएगा। स्कूल के प्रधानाचार्य शरणजीत सिंह ने कहा कि स्कूल ऑफ एमिनेंस के प्रति छात्रों के साथ-साथ उनके अभिभावकों, स्थानीय निवासियों और शिक्षा प्रेमियों में काफी उत्साह है। उन्होंने कहा कि शिक्षा का प्रकाश सभी अंधकार को दूर करता है, आज कक्षा में बैठे छात्र भविष्य में देश के निर्माता बनेंगे। सरकारी स्कूलों के बदलते चेहरे को लेकर मुख्यमंत्री भगवंत मान और शिक्षा मंत्री हरजोत बैंस की हर तरफ तारीफ हो रही है। युवा नेता कामिकर सिंह दाढ़ी, कैप्टन गुरनाम सिंह, डॉ. जरनैल सिंह और क्षेत्र के अन्य गणमान्य लोगों ने सरकारी स्कूल को प्रतिष्ठित स्कूल बनाने और सामान्य वर्ग के छात्रों को मुफ्त गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए शिक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री का विशेष धन्यवाद किया। गुरु नगर कीरतपुर साहिब में मकान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *