April 20, 2024

भगवान परशुराम की जयंती पर निकली विशाल शोभायात्रा

दौलतपुर चौक,22 अप्रैल ( संजीव डोगरा)
भगवान परशुराम जी की जयंती एवम अक्षय तृतीया के पावन दिवस पर सहजल बई के मंदिर के प्रांगण में परशुराम सभा द्वारा हवन करके विश्वशांति की प्रार्थना की गई।ततपश्चात विशाल शोभायात्रा निकाली गयी जो कि सहजल बई से दौलतपुर चौक के बाजार पहुंची जहां नगरवासियों ने पुष्पवर्षा करके एवम छबीलें लगाकर स्वागत किया। दौलतपुर चौक से ऊक्त शोभायात्रा गोंदपुर बनेहड़ा,भंजाल, मुबारिकपुर होते हुए गगरेट पहुंची,फिर गगरेट से अंबोटा, घनारी होते हुए भद्रकाली पहुंची, जहां मंदिर में शीश नवाने के पश्चात शोभायात्रा को विश्राम दिया गया।हवन के पश्चात धर्म गुरु यति सत्यदेवानन्द सरस्वती ने बताया कि अक्षय तृतीया दिवस पर भगवान विष्णु जी के छठे अवतार और भगवान शंकर जी के महान भक्त और मां बगलामुखी जी के पहले उपासक की जयंती मनाने का अवसर मिला है। इस अवसर पर सभी सनातनियों को भगवान परशुराम जी के जीवन पर आत्म चिंतन करने की आवश्यकता है कि सनातनियों में एकता स्थापित करने की जरूरत है।उन्होंने कहा कि भगवान परशुराम जी का नाम जन्म के समय राम था। भगवान शिव की घोर तपस्या के कारण उनको परशु नामक शस्त्र मिला था, जिसके कारण इनका नाम भगवान परशुराम पड़ा था। भगवान परशु राम कभी भी क्षत्रियों के विरोधी नहीं थे बल्कि उन्होंने तो स्वयं उस समय के क्षत्रिय भगवान श्री राम को रावण को मारने के लिए शस्त्र दिए थे और द्वापर में भीष्म पितामह, और कर्णं को शस्त्र विद्या दी थी और श्री कृष्ण जी को सुदर्शन चक्र दिया था। इस शोभायात्रा में पूर्व विधायक राजेश ठाकुर,डेरा अम्बोआ के गद्दीनशीन बाबा राकेश शाह,राजेश डोगरा,सन्दीप शर्मा,नरेश शर्मा,विक्की शर्मा,रजनीश,मोनू शर्मा,पंकज शर्मा,महावीर,ललित,रोहित,सन्नी,लक्की शर्मा,रामनरेश,साहिल इत्यादि ने हिस्सा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *