April 14, 2024

पंजाब अल्कलीज निजीकरण मामले में जांच में जुटी विजिलेंस ब्यूरो

1 min read

कई पूर्व मंत्री व अधिकारी हो सकते हैं जांच एजेंसी के निशाने पर

शिवालिक पत्रिका, पंजाब के नया नंगल स्थित औद्योगिक इकाई पंजाब अल्कलीज एंड कैमिकल्स लिमिटेड (वर्तमान नाम परीमो कैमिकल्स) के वर्ष 2020 में हुए निजीकरण के संदर्भ में पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने जांच शुरू कर दी है। निजीकरण प्रक्रिया में हुई कथित धांधली, अनियमितताओं, व अन्य आरोपों को लेकर अधिवक्ता बिनत शर्मा के माध्यम से हाई कोर्ट पहुंचे याचिकाकर्ताओं हिमाल चंद शर्मा, अरविंद कुमार, अश्विनी कुमार, राजेंद्र शर्मा, प्रवीण कुमार की शिकायत पर माननीय हाईकोर्ट ने पंजाब सरकार से 16 फरवरी तक स्टेटस रिपोर्ट न्यायालय के समक्ष सौंपने के आदेश जारी किए थे। पंजाब सरकार ने अदालत के समक्ष जांच प्रक्रिया जारी होने के कारण स्टेटस रिपोर्ट सौंपने हेतु कुछ और समय देने का अनुरोध किया है जिसे मानते हुए अदालत ने यह रिपोर्ट 10 अप्रैल तक सौंपने के लिए समय दिया है। सूत्रों के अनुसार विजिलेंस ब्यूरो इस मामले में गंभीरता से जांच में जुट गया है व शीघ्र ही आरोपियों के विरुद्ध बड़ी कार्रवाई की जा सकती है। ऐसे में यह माना जा सकता है कि पूर्व कांग्रेस सरकार के दौरान हुए इस निजी करण घोटाले में पूर्व सरकार के कई मंत्री व अधिकारी जांच के दायरे में आ सकते हैं। यहां बता दें कि निवर्तमान कांग्रेस सरकार के दौरान 2020 में नया नंगल स्थित पंजाब अल्कलीज एंड केमिकल्स लिमिटेड कंपनी का आनन-फानन में निजीकरण कर दिया गया था। अन्य कई आरोपों के अलावा यह आरोप भी है कि पंजाब सरकार ने हजार करोड रुपयों से कहीं अधिक की इस कंपनी में अपनी 33.49 प्रतिशत हिस्सेदारी को मात्र 42 करोड में बेच दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *