June 20, 2024

अब पंजाब में शुरू हो रही है ‘सी. एम. दी योगशाला’

1 min read

पंजाबियों का जीवन स्तर सुधारने के लिए रचनात्मक कदम साबित होंगी योगशालाएं:मुख्यमंत्री

शिवालिक पत्रिका, चंडीगढ़, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज स्वस्थ और ख़ुशहाल पंजाब के निर्माण के लिए जन अभियान पैदा करने के उद्देश्य के साथ ‘सी. एम. दी योगशाला’ की शुरुआत करने का ऐलान किया है। एक वीडियो संदेश में मुख्यमंत्री ने ऐलान किया कि भारत की शानदार प्राचीन रिवायतों के सुमेल से यह योगशालाएं शारीरिक और मानिसक तौर पर पंजाबियों को स्वस्थ बनाने में सहायक सिद्ध होंगी। उन्होंने बताया कि पायलट प्रोजैक्ट के तौर पर इसकी शुरुआत अमृतसर, फगवाड़ा, पटियाला और लुधियाना के शहरों से की जायेगी जहां प्रशिक्षित योगा इंस्ट्रक्टर खुले पार्कों और अन्य सार्वजनिक स्थानों में लोगों को मुफ़्त योगा प्रशिक्षण देंगे। भगवंत मान ने कहा कि इसका मुख्य उद्देश्य स्वस्थ, ख़ुशहाल और प्रगतिशील पंजाब का निर्माण करने के लिए लोगों की अधिक से अधिक हिस्सेदारी के द्वारा जन अभियान को यकीनी बनाना है। योग की महत्ता का ज़िक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि योग शारीरिक तंदरुस्ती और मन को मज़बूत रखता है। भगवंत मान ने कहा कि वह ख़ुद रोज़ाना प्रातः काल योगा करते हैं। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को तन-मन की तंदरुस्ती के लिए योग को रोज़ाना की ज़िंदगी में हिस्सा बनाना चाहिए। भगवंत मान ने कहा कि ‘सी. एम. दी योगशाला’ लोगों को योग के द्वारा अच्छी सेहत को यकीनी बनाने के लिए जागरूकता पैदा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा समय पर न सिर्फ़ अच्छी सेहत बल्कि लोगों को तनाव मुक्त होना भी बहुत ज़रूरी है क्योंकि रोज़ाना के जीवन में अनेकों चुनौतियों के साथ जूझना पड़ता है। उन्होंने कहा कि लोगों पर बढ़ रहा तनाव हम सभी के लिए बड़ी चिंता का विषय है और इस समस्या से निजात दिलाने के लिए योग अहम भूमिका अदा कर सकता है। भगवंत मान ने कहा कि अच्छा जीवन व्यतीत करने के लिए मानसिक और शारीरिक तौर पर संतुलन कायम रखना महत्वपूर्ण है और जीवन जाँच में कुछ तबदीलियाँ लाने और योग के द्वारा इसको यकीनी बनाया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने उम्मीद ज़ाहिर की कि ‘सी. एम. दी योगशाला’ मुहिम हरेक पंजाबी के लिए तंदरुस्त और मानक जीवन को यकीनी बनाने के लक्ष्य को हासिल करने की शुरुआत है। उन्होंने उम्मीद ज़ाहिर की कि यह योगशालाएं स्वास्थ और प्रगतिशील पंजाब के निर्माण में कारगर भूमिका अदा करेंगी। भगवंत मान ने कहा कि वह दिन दूर नहीं जब यह योगशालाएं पंजाबियों के बेहतर जीवन को यकीनी बनाने के लिए सहायक सिद्ध होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *