July 22, 2024

एचआरटीसी ने करसोग में यात्रियों को उपलब्ध करवाई कैशलेस भुगतान की सुविधा

1 min read

ई-टिकट मशीनों के माध्यम से यात्री कर रहे है अब आन-लाईन किराये का भुगतान

राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाएं राज्य के लोगों को बेहतरीन सुविधाएं उपलब्ध करवा रही है। हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों से यात्रा करने वाले यात्रियों को सुविधा प्रदान करने और उनके सफर को आसान बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने हाल ही में निगम की बसों को कैश लैस कर दिया है। एचआरटीसी की बसों में यात्रा करने वाले यात्री बसों में अब नगद किराए के स्थान पर आॅन-लाईन भुगतान भी कर सकते है।
राज्य सरकार की ओर से निगम की बसों में प्रदेश भर में शुरू की गई आॅन-लाईन बस किराया भुगतान सुविधा को अब निगम के करसोग डिपों में भी लागू कर दिया गया हैं। जिससे निगम की बसों में यात्रा करने वाले यात्रियों को यात्रा के दौरान बस किराये की अदायगी करना आसान होने के साथ-साथ, बकाया राशि वापस लेने या फिर खुले पैसों देने की चिक-चिक से भी छुटकारा मिला है।
आॅन लाईन बस किराया भुगतान सुविधा के लिए एचआरटीसी की ओर से करसोग डिपो को लगभग 50 ई-टिकट मशीनें उपलब्ध करवाई गई है। जिनमें क्यूआर कोड स्कैन कर आॅन लाईन किराया भुगतान करने की सुविधा उपलब्ध है। परिचालकों ने इन मशीनों का प्रयोग करना शुरू भी कर दिया है। इन मशीनों से यात्रियों को कैशलेस भुगतान की सुविधा मिलने लगी है। अब निगम की बसों में यात्रा करने वाले यात्रियों को अपने साथ पैसे लेकर चलने की आवश्यकता भी नहीं है।
ई-टिकट मशीन पूर्ण रूप से एंड्रायड बेस्ड मशीन है, जो आईटीएमएस (इंटेलिजेंट टिकट मशीन सिस्टम) प्रणाली पर आधारित है। इस मशीन में एक सिम कार्ड पोर्ट दिया गया जिसमें सिम लगाकर मशीन को इंटरनेट से कनेक्ट किया जाता है। इंटरनेट से कनेक्ट होने के बाद मशीन कैशलेस प्रणाली से किए गए भुगतान को स्वीकार करना शुरू कर देती है। यह मशीनें तेज प्रोसेसिंग के साथ ही अधिक मेमोरी से लैस है जो यात्रियों के लिए आॅन-लाइन और कैशलेस भुगतान को और ज्यादा सुविधाजनक बनाती है।
बस अड्डा करसोग से विभिन्न रूटों पर चलने वाली लगभग 40 बसों को ई-टिकट मशीनों से लैस कि जा रहा है। पहले चरण में एचआरटीसी के परिचालकों द्वारा लगभग 20 बसों में ई-टिकट मशीनों से टिकट काटे जा रहे है। निगम की बसों में यात्रा करने वाले यात्री इन मशीनें में यूपीआई, कार्ड स्वाइप, गूगल-पे, फोन-पे इत्यादी से कैशलेस किराये का भुगतान कर सुविधा का लाभ उठा रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *