June 20, 2024

राज्यपाल ने सराहे जिला रेडक्रॉस के कार्य

1 min read

कहा, गतिविधियों को और विस्तार देने की आवश्यकता

शिवालिक पत्रिका, मंडी , राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल जो राज्य रेडक्रॉस सोसायटी के अध्यक्ष भी हैं, ने मंडी में जिला रेडक्रॉस की गतिविधियों को और विस्तार दिए जाने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि जिले में रेडक्रॉस विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से सराहनीय कार्य कर रही है। मंडी जिले के अपने दो दिवसीय दौरे में उन्होंने जिस प्रकार जिला रेडक्रॉस सोसाइटी की विभिन्न गतिविधियों का जायजा लिया और मानवीय संवेदनाओं को उजागर किया वह आम व गरीब व्यक्तियों के लिए आशा की किरण बना है। दो दिवसीय इस दौरे में उन्होंने दिव्य मानव ज्योति ट्रस्ट, डेहर व हिमाचल प्रदेश विशेष बच्चों के योग्यता संस्थान, सुंदर नगर में रह रहे बच्चों को रेडक्रॉस सोसाइटी की ओर से फल वितरित किए। जिला रेडक्रॉस सोसाइटी द्वारा संचालित डायलिसिस यूनिट, सुंदरनगर में मरीजो को निःशुल्क सुविधाओं का जायजा लिया। इसी कड़ी में बल्ह वैली कल्याण सभा, भंगरोटू द्वारा संचालित वृद्ध आश्रम में रह रहे वरिष्ठ नागरिकों का रेडक्रॉस सोसाइटी के माध्यम से स्वच्छता किट व कम्बल भेंट किये। उन्होंने जिला रेडक्रॉस सोसाइटी, मंडी द्वारा क्षेत्रीय चिकित्सालय मंडी में संचालित डिजिटल एक्स-रे व ई.सी.जी. टेस्ट सुविधा का अवलोकन किया, जो कि आम जनता को निःशुल्क उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि समाज में आर्थिक रूप से कमजोर और प्राकृतिक विपदाओं से घिर लोगों के लिए रेडक्रॉस आशा की किरण बनकर सामने आती है। उन्होंने कहा कि यह संस्था जहां मानव सेवा में कार्य कर रही है वहीं जिला मण्डी में इस संस्था के माध्यम से, गरीब, असहाय व बेसहारा व्यक्तियों को मदद करने का प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की कि जिला रेडक्रॉस सोसायटी गरीबी रेखा से संबंधित व्यक्तियों को निःशुल्क चिकित्सा उपलब्ध करवा रही है। सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त अस्पतालों जैसे क्षेत्रीय चिकित्सालय, मण्डी, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान चिकित्सा संस्थान व अस्पताल, शिमला, पी.जी.आई., चण्डीगढ़ व आखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान, नई दिल्ली को रैफर किये रोगियों को चिकित्सा के लिए आर्थिक सहायता दी जाती है। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति आई.आर.डी.पी. परिवार से सम्बन्धित नहीं है तो उन्हे भी वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक, क्षेत्रीय चिकित्सालय, मण्डी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी, मण्डी की सिफारिश पर उपचार के लिए रेडक्रॉस के माध्यम से आर्थिक सहायता दी जाती है, जो एक अच्छी पहल है। उन्होंने कहा कि जिला रेडक्रॉस सोसायटी, क्षेत्रीय चिकित्सालय, मण्डी में 24 घण्टे निशुल्क ई.सी.जी. की सुविधा उपलब्ध करवा रही है। इसके अतिरिक्त, रोगियों की सुविधा के लिए क्षेत्रीय चिकित्सालय मण्डी के शिशु वार्ड में फोटोथेरेपी यूनिट व नवजात नर्सरी यूनिट स्थापित किए गए है। राज्यपाल ने कहा कि जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा रेडक्रॉस भवन में फिजियोथेरेपी यूनिट स्थापित किया गया है, जहां तनावग्रस्त, उत्तेजक, वैक्स स्नान, बर्मी टेबल, चरखी, कंधे व्हील, व्यायाम, फिंगर, आइल कफ व गोनियोमीटर इत्यादि उपकरणों से आम जनता को लाभ मिल रहा है। जिला रेडक्रॉस सोसाइटी, मंडी द्वारा श्री लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज व क्षेत्रीय चिकित्सालय, मंडी में एम्बुलेंस व शव वाहन सेवा का संचालन भी किया जा रहा है।

वरिष्ठ नागरिकों के लिए वरदान बना सहारा कार्यक्रम: राज्यपाल

ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले अधिकांश वरिष्ठ नागरिक अपने घरों तक ही सीमित हैं। जागरूकता की कमी के कारण सामान्य मेडिकल चेक-अप एवं टैस्ट कराने के लिए भी वरिष्ठ नागरिक असमर्थ रहते हैं जिस कारण पें कई जटिल बीमारियों से भी ग्रस्त रहते हैं। इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए जिला रेडक्रॉस सोसायटी व जिला प्रशासन द्वारा यह जिला के दुर्गम क्षेत्रों में रह रहे 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों की स्वास्थ्य जांच उनके घर द्वार पर ही उपलब्ध करवाने का जो निर्णय लिया है वह सराहनीय है। इस प्रयास द्वारा जिला प्रशासन मण्डी स्वतः ही दुर्गम ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे वरिष्ठ नागरिकों का सहारा बनी है। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक लोगों को रेडक्रॉस से जोड़ा जाना चाहिए ताकि रेडक्रॉस की गतिविधियों को और विस्तार दिया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *